जानें लाभ, पोषण, रेसिपी और भी बहुत कुछ: HealthifyMe

0


मखाना, जिसे फॉक्स नट्स के नाम से भी जाना जाता है, एक पारंपरिक भारतीय नाश्ता है। यह उन तालाबों में पैदा होते हैं जिनमें शांत पानी होता है। यह काफी पौष्टिक होता है और खाने में कुरकुरा लगता है; जो कि काफी स्वादिष्ट होता है।

मखाना एक प्रकार का भोजन है जिसका इस्तेमाल एशियाई लोग पारंपरिक चिकित्सा में करते हैं। यह गुर्दे की समस्याओं, लंबे वक्त तक रहने वाले दस्त और बिगड़े हुए डायरिया जैसी रोगों में काफी लाभप्रद है। आजकल, दुनिया भर में लोग इसे एक सुपर फूड के तौर पर देखते हैं क्योंकि इसमें विद्यमान महत्वपूर्ण खनिज आपके शरीर को भरपूर पोषण देते हैं।

मखाने को भारत में एक सुपर हेल्दी स्नैक की तरह खाया जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में मैंगनीज, पोटेशियम, मैग्नीशियम, थायमिन, प्रोटीन और फास्फोरस मिलता है। ज्यादातर लोग चाय पीते वक्त भुने हुए मखाने खाना पसंद करते हैं। बच्चे स्कूल टिफिन में इन्हें ले जा सकते हैं। भारत में, यह आम है, जब हम मखानों का इस्तेमाल खीर, करी, रायता और कटलेट जैसे स्वादिष्ट व्यंजनों में करते हैं। यह स्वादिष्ट होने के साथ-साथ शरीर के लिए काफी लाभकारी होता है।

मखानों से होने वाले स्वास्थ्य लाभ और मिलने वाले पोषण के चलते इन्हें नियमित खान-पान में शामिल रखने की सलाह दी जाती है।

मखानों की उत्पत्ति

भारत के बिहार राज्य में सर्वाधिक मखाने की उपज होती है। यह कमल के बीज से पैदा होता है। दरअसल, कमल के पौधों में बीज की फलियाँ उगती हैं, और हर फली में लगभग 20 बीज होते हैं; जिन्हें पूरी तरह विकसित होने में करीब 40 दिन का समय लगता है। इसके बाद बीजों को सुखाकर तेज आंच पर भून लिया जाता है। इस दौरान बीज का काला बाहरी आवरण टूट जाता है और अंदर का सफेद फूला हुआ भाग बाहर निकल आता है। इन्हीं फूले हुए सफेद बीजों को हम मखाना कहते हैं।

मखाना इतना लोकप्रिय क्यों है?

मखाना, जिसे फॉक्स नट्स के नाम से भी जाना जाता है, अपने पोषण देने वाले गुणों के चलते काफी लोकप्रिय है। काफी चर्चित लोग भी इस बारे में बात करते हैं कि आखिर क्यों मखाने का सेवन करना चाहिए। उनके मुताबिक, यह स्नैक्स के तौर पर खाने का एक अच्छा स्त्रोत है।

मखाना आपको दुकानों पर आसानी से मिल जाएगा। इसमें वसा, कोलेस्ट्रॉल और नमक जैसी स्वास्थ्य के लिए लगभग हानिकारक चीजें बहुत कम मात्रा में पाई जाती हैं। हालांकि, भिन्न-भिन्न पसंद के चलते मखाना अब कई फलेवर्स में भी मार्केट में मौजूद है। इसका एक खास गुण यह है कि इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है, जिसका मतलब है कि यह आपके शरीर को तुरंत एनर्जी देने के लिए एकदम सही है, खासकर जब आप उपवास पर हों। इसके अलावा, यह आपको अच्छा वजन बनाए रखने में मदद कर सकता है। तो, अगर आप स्वादिष्ट और पौष्टिक नाश्ते करना चाहते हैं तो मखाने आपके लिए एक बेहतर विकल्प हैं।

क्या यह वीगन लोगों के लिए अच्छा विकल्प है?

शाकाहार एवं वीगन खानपान केवल भारत में ही नहीं, बल्कि पश्चिमी देशों में भी इन दिनों हाथों-हाथ लिया जा रहा है। इसे खाने को वे लोग पसंद कर रहे हैं जो पशुओं से मिलने वाले मांस, डेयरी, मछली और अंडे जैसे खाद्य पदार्थों से परहेज कर रहे हैं। शाकाहारी लोग पौधे से मिलने वाले खाद्य पदार्थ को खाने का एक बेहतर विकल्प मानते हैं। हालांकि, शाकाहारियों में कई मामलों में विटामिन, खनिज और प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों की कमी देखी जाती है, जिसके चलते कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जन्म ले सकती हैं। लेकिन इस मामले में मखाना आपकी मदद कर सकता है। क्योंकि इसमें मौजूद पोषक तत्व शाकाहारी लोगों को स्वस्थ रख सकते हैं।

मखाना साइज में छोटा हो सकता है लेकिन यह काफी स्वास्थ्यवर्धक हैं। इसमें फॉस्फोरस, प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर जैसे तत्व मौजूद होते हैं, जो शरीर के लिए काफी जरूरी हैं। अगर आप शाकाहारी हैं, तो आप इसे खा सकते हैं। यह फलों से प्राप्त होता है, पशुओं या जीवों से नहीं। ग्लूटेन फ्री खाना खाने वालों के लिए भी मखाना एक बेहतर विकल्प है। काम करते हुए बीच में भूख लगे तो मखाने खाना एक स्मार्ट विकल्प है। इनमें बहुत अधिक कैलोरी नहीं होती, इसलिए आप बेशक इनका आनंद ले सकते हैं।

मखानों के पोषण संबंधी तथ्य

मखाना, या फॉक्स नट्स, एक शक्तिशाली स्नैक्स हैं। मखानों से स्वस्थ पाचन तंत्र के लिए आवश्यक फाइबर मिलता है और इसमें मौजूद पोटेशियम से आपका दिल स्वस्थ रहता है। मखाने खाने से आपको बेहतरीन त्वचा मिल सकती है, वजन नियंत्रण में मदद मिल सकती है और आपके दिल और हार्मोन को संतुलन में रखा जा सकता है। मखाने आपके स्वास्थ्य के लिए एक छिपा हुआ खजाना हैं।

100 ग्राम मखाने निम्न पोषक तत्वों से संपन्न हैं:

  • कैलोरी: 347
  • प्रोटीन: 9.7 ग्राम
  • वसा: 0.1 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट: 76.9 ग्राम
  • फ़ाइबर: 14.5 ग्राम
  • कुल लिपिड (वसा): 0.1 ग्राम
  • कैल्शियम: 60 मिलीग्राम
  • आयरन: 1.4 मिलीग्राम

मखानों से होने वाले स्वास्थ्य संबंधी 11 प्रकार के लाभ

1. किडनी स्वास्थ्य

मखाने रक्त प्रवाह को बनाए रखते हैं और मूत्र प्रवाह को नियंत्रित करते हैं। इस प्रकार मखाने शरीर को डिटॉक्सीफाई करके आपकी किडनी को स्वस्थ बनाये रखते हैं।

2. स्वस्थ हृदय

मखाने मैग्नीशियम, प्रोटीन, कैल्शियम और कार्ब्स जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। साथ ही, इनमें सोडियम और वसा की मात्रा भी कम होती है। अपने इन गुणों के चलते मखाना ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है।

3. लिवर डिटॉक्स

मखाना लिवर के जरिए आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है, इससे मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है।

4. मधुमेह नियंत्रण

मधुमेह रोगियों के लिए मखाना काफी लाभप्रद है। ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करता है। मखाने में उपस्थित कम कैलोरी और इसका निम्न ग्लाइसेमिक इंडेक्स इसका प्रमुख कारण है।

5. मजबूत हड्डियाँ

मखानों में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, जिससे हड्डियों और जोड़ों को मजबूती मिलती है। साथ ही, हड्डी के रोग भी दूर होते हैं। इसके लिए, दूध के साथ मखानों का सेवन करना चाहिए।

6. वजन प्रबंधन

शोधकर्ताओं के अनुसार, मखाना काम कोलेस्ट्रॉल और कम कैलोरी वाला खाद्य पदार्थ है जो एक स्वस्थ वज़न बनाये रखने में सहायक है। अन्य तले हुए या पैकेट वाले स्नैक्स की तरह मखाना वज़न नहीं बढ़ाता।

7. हार्मोनल संतुलन

मखाने हार्मोनल संतुलन बनाए रखने, मासिक धर्म के दौरान संभोग की इच्छा को नियंत्रित करने और मासिक धर्म से पहले के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं।

8. स्वस्थ पाचन

मखाने में मौजूद उच्च फाइबर आपके पाचन तंत्र को मजबूत देता है, जिससे कब्ज जैसी समस्याएं नहीं होती हैं।

9. प्रजनन क्षमता में वृद्धि

इसका नियमित सेवन हार्मोनल संतुलन बनाए रखता है। अपने इस गुण के कारण यह महिला प्रजनन क्षमता में वृद्धि करता है।

10. सूजन में कमी

मखाने में ‘केम्पफेरोल’ होता है, जिसे नियमित रूप से खाने पर शरीर में सूजन कम हो जाती है। सूजन के रोगियों को मखाने खाने की सलाह दी जाती है।

11. एंटी-एजिंग

एंटीऑक्सीडेंट और अमीनो एसिड से भरपूर, मखाना समय से पहले बुढ़ापा रोकने में मदद करता है और आपकी त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाए रखता है।

सारांश

मखाना, जिसे फॉक्स नट्स भी कहा जाता है, असल में आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद अच्छा है। मखाने आपकी किडनी को बेहतर तरीके से काम करने लायक बनाते हैं और आपके ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करके आपके दिल को मजबूती प्रदान करते हैं। ये लीवर को भी साफ रखते हैं। अगर आप मधुमेह के मरीज हैं, तो मखाने खाने से आपका ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ेगा। मखाना खाने से हड्डियों को भी मजबूती मिलती है। वजन कम करना चाहते हैं तो मखाने खाएं क्योंकि उनमें कोलेस्ट्रॉल और कैलोरी बेहद कम मात्रा में पाया जाता है। मखाने आपके हार्मोन्स को संतुलित रखते हैं, पेट को स्वस्थ रखते हैं, और महिलाओं की प्रजनन क्षमता भी बढ़ाते हैं।

मखानों से बनने वाली 3 रेसिपी

मसालेदार मखाना रेसिपी

क्या आप तुरंत तैयार होने वाला और स्वादिष्ट नाश्ता करना चाहते हैं? तो आप मसालेदार मखाना रेसिपी को जरूर आज़माएं! जो कि बनाने में बेहद आसान है और इसमें आपके घर पर उपलब्ध मसालों का ही इस्तेमाल होता है। चाय के लिए यह एक बेस्ट और हेल्दी स्नैकिंग ऑप्शन है।

सामग्री:

  • मखाने – 3 कप
  • हल्दी पाउडर – 1 चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर – 1 छोटा चम्मच
  • नमक स्वाद अनुसार
  • चाट मसाला – 1 चम्मच
  • काली मिर्च – ½ छोटा चम्मच
  • घी – 1 बड़ा चम्मच

बनाने की विधि

  • एक पैन में थोड़ा घी गर्म करें और धीमी आंच पर मेवों को 10-12 मिनट तक भून लें। ध्यान रहें मखानों को बीच-बीच में हिलाते रहें।
  • इसके बाद, मेवों में सारे मसाले मिला दें और फिर आंच बंद कर दें।
  • अगर आप चाहे तो स्वाद बढ़ाने के लिए चाट मसाला भी छिड़क सकते हैं। सभी चीजों को अच्छी तरह मिला लें।
  • अंत में, मखानों को एक एयरटाइट कंटेनर में भरकर रख लें और जब मन चाहे सेवन करें।

मखाना टिक्की रेसिपी

मखाना टिक्की स्नैकिंग का एक स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक विकल्प है। जिसे खाने के बाद मेहमान आपकी कुकिंग स्किल्स की तारीफ करते नहीं थकेंगे। इसका सेवन विभिन्न पेय पदार्थों के साथ किया जा सकता है। आइए जान लेते हैं कि किस तरह आप मखाना टिक्की बना सकते हैं।

सामग्री

  • मध्यम आलू – 2 उबले और मैश किए हुए
  • मखाना – 1 कप
  • हरी मिर्च – 2, बारीक कटी हुई
  • भुनी हुई मूंगफली- 2 बड़े चम्मच, हल्की चोप की हुई
  • धनिया पत्ती – मुट्ठी भर, बारीक कटी हुई
  • सौंफ़ पाउडर – 1 चम्मच
  • गरम मसाला पाउडर – 1 चम्मच
  • चाट मसाला – 1 चम्मच
  • तेल – करीब 3 बड़े चम्मच
  • नमक स्वाद अनुसार

बनाने की विधि

  • मखानों को घी में कुरकुरा होने तक भून लीजिए। फिर, उन्हें हल्का-सा ग्राइंड कर लें।
  • पिसे हुए अखरोट, मैश किए हुए आलू और अन्य सामग्री को एक कटोरे में डालें।
  • सभी चीजों को एक साथ मिला लें। अपनी पसंद के अनुसार नमक और मसाले डालें।
  • इस मिश्रण को गोल आकार में बनाकर इन्हें नॉन-स्टिक पैन में थोड़े से तेल के साथ पकाएं या ओवन में दोनों तरफ से सुनहरा भूरा होने तक बेक करें।
  • अब इस रेसिपी का चटनी के साथ आनंद उठाएं।

हेल्दी मखाना चाट रेसिपी

मखानों से आप एक हेल्दी चाट भी बना सकते हैं जिसमें तेल का बिल्कुल इस्तेमाल नहीं होता है। यह केवल 15 मिनट में बनकर तैयार हो जाती है। आप चाहें तो अपनी कुकिंग एक्सपीरियंस के हिसाब से इस चाट के साथ थोड़ा बहुत एक्सपेरिमेंट भी कर सकते हैं।

सामग्री

  • मखाना
  • प्याज – 1 कटा हुई
  • सादा दही – 1 कप
  • अनार के बीज – आधा कप
  • काली मिर्च पाउडर – आधी चम्मच
  • किशमिश – मुट्ठी भर
  • भुना जीरा पाउडर – 1 छोटी चम्मच
  • धनिया पत्ती – मुट्ठी भर (कटी हुई)
  • नींबू का रस – 1 चम्मच (इच्छा अनुसार)
  • नमक स्वाद अनुसार

बनाने की विधि

  • सबसे पहले मखानों को 5 से 10 मिनट तक के लिए पानी में भिगो दें।
  • इसके बाद, पानी से निकाल कर निचोड़ ले और एक कटोरे में रख लें।
  • फिर सारी सामग्री को कटोरे में डालकर अच्छी तरह से मिलाएं।
  • आखिर में किशमिश डालकर सर्व करें।

HealthifyMe के सुझाव

स्नैकिंग के बारे में आपको ज्यादा सोचने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि मखाना एक स्वादिष्ट स्नैक है जो आपके लिए चिप्स से भी बेहतर है। आप इसे आसानी से खरीद सकते हैं और अपनी इच्छा के मुताबिक रेसिपी या फिर सीधे ही इसका सेवन कर सकते हैं। हालांकि, इसे खाने का सबसे अच्छा तरीका हम पहले ही तीन रेसिपी के जरिए आपको बता चुके हैं। फिर भी आपको लगता हो कि आप मखानों से कुछ बेहतर स्नैकिंग बना सकते हैं तो प्रयोग करने से बिल्कुल न चूकें। केवल ध्यान रहे कि, गिल्ट फ्री डाइट के लिए तेल का इस्तेमाल बेहद कम करें, ऐसा करने से यह एक स्वास्थ्यवर्धक विकल्प बन जाता है।

निष्कर्ष

मखाना एक शानदार नाश्ता तो है ही! साथ ही, यह आवश्यक पोषक तत्वों से भी भरपूर है। जब भी आपको कुछ स्नैकिंग करनी हो तो मखाना भूख मिटाने का एक बढ़िया विकल्प है। लेकिन, अगर आपका पेट संवेदनशील है तो इसे खाने से परहेज करें, क्योंकि इससे एलर्जी जैसी कुछ समस्याएं हो सकती हैं।

एक और बात जो शायद आपको याद रखनी चाहिए कि प्रमुख आहार लेते रहें, मखाने केवल वैकल्पिक स्नैकिंग है। यह सोचकर कि यह आपका वजन कम कर देगा, इसे प्रमुख आहार न समझें। ध्यान दें, वजन घटना या बढ़ना आपकी लाइफस्टाइल पर निर्भर करता है। इसलिए मखानों को नियंत्रित मात्रा में ही खाएं। इसके अलावा, नियमित रूप से कुछ व्यायाम करें और स्वस्थ रहें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न: मखाने के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं?

उत्तर: मखाना एक स्वास्थ्यवर्धक नाश्ता है। सोडियम और पोटेशियम के कारण यह बल्ड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है। साथ ही, इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है। इसमें कम कैलोरी होती हैं। यह फाइबर के गुणों से विद्यमान होता है जो कि पाचन के लिए बेहतर है। मखाने में उम्र बढ़ने से रोकने और हार्मोन को संतुलित करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं।

प्रश्न: मखाने को स्टोर कैसे करें?

उत्तर: मखानों को ताज़ा रखने के लिए, सूरज की रोशनी से दूर, ठंडी, सूखी जगह पर रखें। इसके लिए आप एयरटाइट कंटेनर का इस्तेमाल करें। मखानों को भूनने से उनकी उम्र भी बढ़ जाती है और स्वाद बरकरार रहता है, साथ ही वो काफी दिनों तक खाने के अनुकूल बने रहते हैं।

प्रश्न: क्या मखाना पाचन में सहायता करता है?

उत्तर: मखाना में उच्च मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन के लिए बहुत अच्छा होता है। इसके अलावा, यह सूजन और ऐंठन को रोकता है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं जो पाचन में सहायता करते हैं और नियमित रूप से खाने पर कब्ज को रोक सकते हैं।

प्रश्न: मखाना इतना लोकप्रिय क्यों हैं?

उत्तर: मखाना, भारत में एक लोकप्रिय स्नैकिंग ऑप्शन है। इसके सेवन से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के चलते इसे प्रमुखता से खाया जाता है। भारत में, तो कई प्रमुख व्यंजनों में यह शामिल रहता है। साथ ही, इससे बनने वाला पौष्टिक नाश्ता कम कैलोरी और उच्च प्रोटीन से लैस होता है, जो कि खाने का एक स्वस्थ विकल्प है। बता दें कि, प्राचीन चिकित्सा भी मखानों के सेवन पर जोर देती है।

प्रश्न: क्या मखाना वजन घटाने में सहायता करता है?

उत्तर: मखाना कम कैलोरी, उच्च प्रोटीन और फाइबर वाला एक स्वस्थ नाश्ता है। जब इन्हें आपके आहार में शामिल किया जाता है तो ये आपको भूखा महसूस नहीं होने देते हैं और आपके बार-बार खाने की अवधि को कम कर देते हैं। इससे वजन घटाने में काफी मदद मिलती है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *